• Brahma Kumaris

आज का पुरुषार्थ for November 2021 (audio)

Updated: a day ago

"आज का विशेष पुरुषार्थ" शिव बाबा द्वारा अमृतवेला योग समय मिली अनमोल शिक्षाएँ है, विशेष पालना है, व विशेष directions है। सभी पुरुषार्थी ब्राह्मण आत्माए (ब्रह्माकुमारी व ब्रह्माकुमार) इस पुरुषार्थ को रोज सुने और अपने जीवन में तेज़ी से अपनाए। अब समय थोड़ा है, परिवर्तन का कार्य बड़ा है।

Month: November 2021

Format: Audio, mp3 file to download

  • This post is updated Daily

इस वेबसाइट पोस्ट को अनन्य ब्राह्मण आत्माओ तक SHARE (forward) करे। बाबा के सभी बच्चो को यह श्रेष्ठ विशेष पालना मिलनी चाहिए, यही हमारा संकल्प है। Share on WhatsApp


★ निचे Download links दी है ➤


1 November 2021

2 November 2021

3 November 2021

4 November 2021

5 November 2021

6 November 2021

7 November 2021

8 November 2021

9 November 2021

10 November 2021

11 November 2021

12 November 2021

13 November 2021

14 November 2021

15 November 2021

16 November 2021

17 November 2021

18 November 2021

19 November 2021

20 November 2021

21 November 2021

22 November 2021

23 November 2021

24 November 2021

25 November 2021

26 November 2021

27 November 2021

28 November 2021

29 November 2021

30 November 2021


Shiv Baba Purusharth

पुरुषार्थ से मुख्य पॉइंट्स


➥ शिव बाबा हमे रोज ही love and light का अभ्यास करने को केहते है। देखो की सब कुछ पवित्र लाइट से बना है। इसी अभ्यास से स्व-परिवर्तन एवं स्थूल दुनिया का परिवर्तन होना है।


➥ बाबा यह भी revise कराते है की स्वयं को आत्मा निश्चय करो, और सम्बन्धो में आते भी न्यारे रहो, हल्का रहो।


➥ अपनी स्व-स्थिति को बार बार check करो। क्या देह अभिमान आता है? क्या परिस्थिति का प्रभाव पड़ता है? स्वमान में कितना समय रहता हूँ?


➥ कर्म करते हुए बाप की नेचुरल याद बनी रहे, बड़े प्यार से याद करना है। गुप्त नशा रेहना चाहिए की हम देवता बन रहे है, हमारी सतयुगी दुनिया बस आयी की आयी।


Credit: This is "Aaj ka Purusharth" published by Peace of Mind TV (PMTV)


Source of Daily Purusharth

You may wonder what is the source of these daily Purusharth which comes through Peace of Mind... who is Shiv baba's medium through which baba is giving these precious directions. We wish to let you know that a Gruhasthi Maata from Punjab (India) is receiving baba's touchings during morning Amritvela Yog time. She is in Gyan since the year 2001, while following Gyan in loukik life.


नमस्ते

शिव बाबा की याद में,

The 'Shiv Baba Services Initiative' team